हर्ष का विलोम शब्द क्या हैं? | Harsh Ka Vilom Shabd in hindi [ 2023 ]

harsh ka vilom shabd

Harsh Ka Vilom Shabd in hindi  | हर्ष का विलोम शब्द  | vilom shabd in hindi

इस आर्टिकल में हमने Harsh Ka Vilom Shabd से संबंधित जानकारी आपके साथ साझा की है। अगर आप हर्ष का विलोम शब्द के बारे में जानकारी ढूंढ़ रहे हैं, तो आपको यह आर्टिकल शुरू से लेकर आखिर तक पढ़नी चाहिए। तो बड़े दिल से आइए शुरू करते हैं

आजकल के समय में विभिन्न प्रकार की परीक्षाओं में हिंदी व्याकरण से संबंधित विभिन्न प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं। उदाहरण के लिए: विलोम शब्द, पर्यायवाची शब्द, संज्ञा, सर्वनाम, क्रिया, विशेषण, अलंकार, आदि।

आजकल एक छात्र को हिंदी विषय की परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए हिंदी व्याकरण का ज्ञान होना आवश्यक है।
इस महत्वपूर्ण और उपयोगी आर्टिकल में हमने हिंदी व्याकरण के एक विषय ‘हर्ष का विलोम शब्द’ के बारे में जानकारी दी है।’हर्ष का विलोम शब्द’ के बारे में परीक्षाओं में सबसे अधिक प्रश्न पूछे जाते हैं, और इसलिए हमने यह आर्टिकल आपके साथ साझा किया है।

विलोम शब्द क्या होते हैं?

विलोम शब्द वो शब्द होते हैं जिनका अर्थ दिए गए शब्द के बिलकुल उल्टा होता है। इन शब्दों का उपयोग विपरीतार्थकता या विरुद्धार्थकता को स्पष्ट करने में होता है, ताकि वाक्य का मतलब स्पष्ट हो सके।

उदाहरण के लिए, ”अच्छा” शब्द का विलोम शब्द ”बुरा” होता है। इसका मतलब है कि ”अच्छा” सकारात्मक या पॉजिटिव होता है, जबकि ”बुरा” नकारात्मक या नेगेटिव होता है। इसी तरह, एक और उदाहरण में ”सफल” का विलोम ”असफल” होता है और ”उप” का विलोम ”नीचे” होता है

हर्ष का विलोम शब्द क्या है?-Harsh Ka Vilom Shabd

शब्द विलोम शब्द     –   /विपरीतार्थी शब्द

हर्ष विषाद
Harsh – Vishad
Joy – Depression

हर्ष का अर्थ- harsh ka arth

हर्ष का अर्थ: खुशी का परिचय

खुशी और आनंद हमारे जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। जब हम कुछ खास या महत्वपूर्ण घटना के साथ खुश होते हैं, तो हमारे चेहरे पर वो खास मुस्कान होती है, जो हमारे खुशी की ख़बर दुनिया को दिखाती है। इस खुशी की भावना को हम संस्कृत में “हर्ष” कहते हैं।

हर्ष का मतलब

“हर्ष” एक संस्कृत शब्द है जिसका मतलब “आनंद” या “खुशी” होता है। यह शब्द खुशी की भावना को व्यक्त करने के लिए प्रयुक्त होता है। जब हमें कुछ अच्छा होता है, जैसे कि सफलता मिलती है, कोई अच्छा समाचार आता है, या हमारे पास कोई खास समय बिताने का मौका होता है, तो हम “हर्ष” में लिपट जाते हैं।

See also  उदय का विलोम शब्द ? Uday ka vilom shabd in hindi [2023]

हर्ष का महत्व

हर्ष की भावना हमारे मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी महत्वपूर्ण है। यह हमारे दिल को सुखद और प्रसन्न बनाता है और स्ट्रेस को कम करने में मदद करता है। हर्ष के महसूस होने से हमारा आत्म-समर्पण बढ़ जाता है और हम अपने लक्ष्यों की ओर अधिक संजीवित होते हैं।

हर्ष का विलोम शब्द संस्कृत में

विषाद हर्ष का विलोम शब्द है संस्कृत में।

जी हां, बिल्कुल। “हर्ष” एक भावना है जिसका अर्थ होता है खुशी, आनंद, उत्साह आदि। जब कोई किसी चीज़ या स्थिति के साथ खुश होता है, तो वह उस चीज़ या स्थिति के प्रति हर्ष अनुभव करता है।

विलोम शब्द यानी एक शब्द का उल्टा अर्थ होता है। इसका मतलब है कि “दुःख” हर्ष का विलोम शब्द होता है। “दुःख” का अर्थ होता है दुःख, दर्द, संताप आदि, जिससे हमें खुशी नहीं मिलती।

इसलिए, “हर्ष” और “दुःख” दो विपरीत भावनाओं को प्रकट करने वाले शब्द हैं।

और पढ़े-उन्नति का विलोम शब्द । Unnati ka vilom shabd [2023] । Vilom shabd

विशाल का विलोम शब्द । Vishal ka vilom shabd । vilom shabd [2023]

20 Vilom Shabd । 20 विलोम शब्द । Vilom Shabd

विषाद का अर्थ-vishad ka arth

विषाद का अर्थ: दुख और उदासी की भावना

जीवन का सफर अनजान मोड़ों पर चलता रहता है, और इसमें खुशी के साथ-साथ दुख और उदासी के पल भी होते हैं। “विषाद” एक ऐसा शब्द है जो हमारे मन में उत्तेजना की बजाय दुख और उदासी की भावनाओं को व्यक्त करने के लिए प्रयुक्त होता है।

विषाद का मतलब

“विषाद” का मतलब होता है “दुख” और “उदासी”। जब कोई व्यक्ति या स्थिति अपने जीवन में किसी प्रकार के दुख, दर्द, या उदासी में होता है, तो उन्हें हम “विषाद” कहते हैं। इसका मतलब है कि उनकी मनसिक स्थिति गहरी चिंता और दुखभरी होती है।

विषाद की भावना

विषाद की भावना हमें यहाँ तक ले जाती है कि हम जीवन में कभी-कभी संघर्ष और दुखों का सामना करते हैं। यह हमारे मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है और हमारे जीवन को परेशानीपूर्ण बना सकता है। हालांकि विषाद हमारे जीवन का हिस्सा होता है, हमें इसका सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए और सकारात्मक तरीके से इसका समाना करने का प्रयास करना चाहिए।

ह वर्ण से अन्य महत्वपूर्ण विलोम शब्द

ह वर्ण से अन्य महत्वपूर्ण विलोम शब्द नीचे दिए गए हैं :

हर्ता का विरुद्धार्थी शब्द
कर्ता
हर्ष का विरुद्धार्थी शब्द
शोक
हस्व का विरुद्धार्थी शब्द
दीर्घ
हानि का विरुद्धार्थी शब्द
लाभ
हार का विरुद्धार्थी शब्द
जीत
हित का विरुद्धार्थी शब्द
अहित
हिंसा का विरुद्धार्थी शब्द
अहिंसा

See also  अनाथ का विलोम शब्द क्या है | Anath Ka Vilom Shabd [2024]

हर्ष शब्द का वाक्य में प्रयोग-harsh ka vakya prayog

उसकी सफलता ने उसके चेहरे पर अद्वितीय हर्ष की मुस्कान लाई।

बच्चों के आने पर माता-पिता के चेहरों पर हर्ष की किरनें खिल उठी।

उनके मन में जब सच्ची खुशी आई, तो वह अपने हर्ष को छिपा नहीं सके।

समुद्र तट पर चलते समय मैंने अपने अंतर्मन में अद्वितीय हर्ष महसूस किया।

विजय के बाद उनके मन में एक अद्वितीय हर्ष था, जिसको शब्दों में व्यक्त करना मुश्किल था।

परियोजना को सफलता प्राप्त होने पर उनका हर्ष देखकर सभी सहयोगी खुश हो गए।

विद्यार्थियों के चेहरों पर परीक्षा परिणाम देखकर हर्ष की रौशनी दिखाई दी।

उनके जीवन में खुशियों के पल आए जब उनका दिल अद्वितीय हर्ष से भर गया।

उनके मन में नए सपनों की तरंग बिखर गई, जिसने उन्हें अद्वितीय हर्ष महसूस कराया।

विशेष समयों में जैसे उनके जन्मदिन पर, उनके चेहरे पर अद्वितीय हर्ष की चमक दिखाई देती है।

 विषाद का 15 वाक्य में प्रयोग- vishad ka vakya prayog

उसका चेहरा हमेशा हर्ष से चमकता रहता है, लेकिन आज उसके आँखों में अचानक विषाद का संकेत था।

उसके मन में खुशियों की बातें छाई हुई थीं, पर आज उसकी आवाज़ में विषाद की खामोशी थी।

उसकी जीवनमंदिर में आज विषाद की छाया छ गई, जिसके कारण वह थोड़ी चिंतित लग रही थी।

उसके होने वाले विवाह में उसका विषाद छिपा हुआ था, जिसका कारण केवल वही जानती थी।

विषाद के समय उसकी आँखों में आँसू बने रहते हैं, जो कभी-कभी उसकी असमर्थता की कहानी कह देते हैं।

विषाद की अवस्था में वह खुद को अकेला महसूस करता है, जैसे कि सब कुछ उसके साथ छोड़कर चले गए हों।

उसके मन में विषाद के बादल छाए रहते हैं, जो किसी भी समय बरस सकते हैं और उसकी खुशियों को छिपा सकते हैं।

उसकी आँखों में आज विषाद की छाया दिख रही थी, जिससे पता चलता था कि वह कुछ खो गया है।

जब उसने अपने परिवार को खो दिया, तब उसकी जिन्दगी में विषाद की एक अलग छाप छोड़ गयी।

विषाद के बावजूद भी, वह अपने दोस्तों के साथ समय बिताने की कोशिश करता है, जो उसके हालातों को समझते हैं।

विषाद की घड़ी में उसकी आवाज़ थम जाती है और उसके शब्दों में दर्द की गुहार छुपी रहती है।

जब उसके पास समस्याएं बढ़ गईं, तो उसके चेहरे पर विषाद की छाया दिखाई दी, जिससे उसकी कठिनाइयों का पता चलता था।

उसकी मुस्कान के पीछे विषाद की छिपी हुई हकीकत को कोई नहीं समझ सकता, वह केवल खुद ही जानता है।

See also  मित्र का विलोम शब्द क्या है । mitra ka vilom shabd [2023]

विषाद की घड़ी में उसके मन में अनगिनत विचार और सवाल उठते हैं, जिनके उत्तर उसे ढूँढ़ने होते हैं।

उसके दिल में विषाद के पलों की यादें अब भी बेजुबानी से उठती हैं, जो उसकी जिन्दगी की एक अद्वितीय भावना है।

हर्ष के विलोम शब्द की कहानी

हर्ष के विलोम शब्द “दुःख” है, इसका मतलब होता है सुखद भावनाओं के बजाय दर्द और दुख की भावना।

यह कहानी है एक छोटे से मुसीबत से जूझ रही मुर्गी की।

एक दिन, एक मुर्गा अपने साथी मुर्गियों के साथ खेत में घूम रहा था। वह बहुत हर्षित और खुश था, क्योंकि उसका दिन बहुत ही अच्छा बीत रहा था। खेत में बहुत सारे खाने के लिए कीटे-मकोड़े थे, और मुर्गा और मुर्गियाँ बड़े ही खुश थे क्योंकि उन्हें अपनी पसंदीदा खाने की खोज में बहुत सारा मौका मिल रहा था।

लेकिन एक दिन, जब मुर्गा और मुर्गियाँ खेत में घूम रहे थे, तब उन्होंने एक बड़े ही भयंकर बच्चे को देखा। वह बच्चा बहुत बड़ा और डरावना दिख रहा था। मुर्गा और मुर्गियाँ ने देखा कि उस बच्चे का पैर चोट आयी थी और वह बहुत ही दुखी दिख रहा था।

मुर्गा ने अपनी साथी मुर्गियों से कहा, “देखो, वह बच्चा बहुत ही दुखी दिख रहा है। हमें उसकी मदद करनी चाहिए।”

मुर्गियाँ बहुत ही चिंतित हो गईं और सहम गईं, लेकिन मुर्गा ने दिन के हर्ष और सुख के बावजूद उस बच्चे की मदद की। वह उसके पास गया और उसका पैर देखकर दर्द और दुख की भावना समझा।

मुर्गा ने बच्चे को एक सुरक्षित स्थान पर ले जाया और उसकी देखभाल की। वह दुःख को समझते हुए उसके साथ रहने में मदद करता रहा, और बच्चे को स्वस्थ करने के लिए उसका ख्याल रखा।

इसके बाद, वह बच्चा स्वस्थ हो गया और हर्ष की भावना से भरा हुआ होता है क्योंकि उसने एक दुःखभरे समय में भी दोस्त की मदद की थी। मुर्गा और मुर्गियाँ ने भी इससे बड़ा हर्ष महसूस किया क्योंकि वे जाने अनजाने में एक दुखी बच्चे की मदद करके अच्छा काम किया था।

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि हमें हर्ष के साथ-साथ दुःख की भावना को भी समझना और दूसरों की मदद करने की क्षमता रखनी चाहिए। यह हमें इस बात का सबक सिखाता है कि जब हम दुख में भी दूसरों की सहायता करते

निष्कर्ष

तो दोस्तों आज हमने हर्ष का विलोम शब्द के बारे में जाना। में उम्मीद करता हूं आज का लेख आपको काफी पसंद आया होगा अगर लेख पसंद आया हो तो उसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे एवं ऐसे ही नए लेखो को पढ़ने के लिए वेबसाइट को सब्सक्राइब जरूर करे

धन्यवाद

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *