राजा का विलोम शब्द क्या है [2023] । raja ka vilom shabd in hindi । vilom shabd in hindi

राजा का विलोम शब्द क्या है? [2023] । raja ka vilom shabd in hindi । vilom shabd in hindi

Raja Ka Vilom Shabd : राजा का विलोम शब्द “प्रजा” होता है। राजा एक सत्ताधारी शब्द होता है जिसका अर्थ होता है एक राष्ट्रपति या शासक। वहीं, प्रजा शब्द उस समूह को संकेत करता है जिसे राजा शासन करता है, अर्थात जनता। राजा और प्रजा शब्द विलोम शब्द हैं क्योंकि ये एक दूसरे के विपरीतार्थक हैं।

राजा का विलोम शब्द | Vilom Shabd of Raja

शब्द विलोम
राजा रानी,प्रजा,रंक
Raja Raani,Praja,Rank

Raja Ka Vilom Shabd के समानार्थी नाम हैं:

राजा का विलोम शब्द कई रूपों में हो सकता है, यहाँ कुछ उदाहरण दिए गए हैं:

  1. महाराजा
  2. सम्राट
  3. शाह
  4. नवाब
  5. राजवंशी
  6. राजदीप
  7. राजेश्वर
  8. क्षत्रिय
  9. प्रभु
  10. रजनीचर

यहां 10 विस्तृत उदाहरण हैं जो “राजा” के विलोम शब्दों के बारे में हैं:

  • प्रजा: राजा के विलोम शब्द “प्रजा” है। यह शब्द एक जनता या आम आदमी समूह को दर्शाता है जो राजा के प्रभाव के अधीन होता है।

 

  • सेवक: राजा के विलोम शब्द “सेवक” है। यह शब्द एक व्यक्ति को दर्शाता है जो सेवा करने के लिए तत्पर होता है और उपासनीय पद के स्वामी के बदले में नहीं होता है।

 

  • नागरिक: राजा के विलोम शब्द “नागरिक” है। यह शब्द एक देश के निवासी को दर्शाता है जो राज्यिक प्रशासन के अधीन होता है और राजा के समान सत्ता और प्रतिष्ठा नहीं प्राप्त करता है।
See also  मित्र का विलोम शब्द क्या है । mitra ka vilom shabd [2023]

 

  • सरपंच: राजा के विलोम शब्द “सरपंच” है। यह शब्द एक ग्रामीण स्थान के संगठन को दर्शाता है जिसमें विभिन्न सदस्यों द्वारा निर्णय लिया जाता है और एक एकल शासक के बजाय समानांतर प्रशासन को स्थापित करता है।

 

  • मंत्रिमंडल: राजा के विलोम शब्द “मंत्रिमंडल” है। यह शब्द एक सरकारी संगठन को दर्शाता है जो निर्णय लेने और कार्यवाही करने के लिए तैयार होता है और जिसमें विभिन्न मंत्रियों की एक समूहिक शक्ति होती है।

 

  • नेता: राजा के विलोम शब्द “नेता” है। यह शब्द एक सार्वजनिक व्यक्ति को दर्शाता है जो जनता के लिए मार्गदर्शन करने और उनकी आवाज़ को प्रतिष्ठित करने का कार्य करता है।

 

  • प्रधानमंत्री: राजा के विलोम शब्द “प्रधानमंत्री” है। यह शब्द एक देश के उच्चतम निकाय के सदस्य को दर्शाता है जो राष्ट्रीय स्तर पर कार्य करता है और एक एकल शासक के बजाय लोकतंत्र में सत्ता प्राप्त करता है।

 

  • आम आदमी: राजा के विलोम शब्द “आम आदमी” है। यह शब्द एक आम जनता को दर्शाता है जो साधारण और सामान्यतः निर्धारित स्थानों में रहती है और न किसी शासक के अधीन होती है और न किसी प्रतिष्ठित पद को प्राप्त करती है।

 

  • संघ: राजा के विलोम शब्द “संघ” है। यह शब्द एक संगठन को दर्शाता है जिसमें सदस्यों की एक समूहिक शक्ति होती है और जो साथ मिलकर निर्णय लेते हैं। इसमें व्यक्तिगत शासक या नेता का पद नहीं होता है।

 

  • जनता: राजा के विलोम शब्द “जनता” है। यह शब्द एक देश या क्षेत्र की जनसंख्या को दर्शाता है और जो सामान्यतः एक निर्धारित प्रशासनिक संरचना के तहत रहती है और शासकीय प्रशासन की शक्ति को नहीं प्राप्त करती है।
See also  prashansa ka vilom shabd । प्रशंसा का विलोम शब्द [2023]


यहां एक कहानी है जो “राजा” के विलोम शब्द के बारे में है:

बहुत समय पहले, एक छोटे से गांव में एक आम आदमी रहता था। वह निर्धन था और उसके पास संपत्ति नहीं थी, लेकिन उसके दिल में बड़ा स्वभाव था। वह गांव के सभी लोगों के मध्य में सम्मानित था क्योंकि उसने हमेशा अपनी भावनाओं को सम्मानित रखा और सभी के साथ निष्ठा से व्यवहार किया।

एक दिन, गांव में एक समस्या उत्पन्न हुई। उस समय गांव के सभी लोग दिग्गजों से मदद मांगने लगे। एक विदेशी राजा इस समस्या का समाधान करने के लिए आया और अपनी सत्ता के साथ दबाव डाला।

आम आदमी, जो अपनी समझदारी और न्यायप्रियता से प्रसिद्ध था, इसे देखकर चिंतित हुआ। उसने समय न गंवाएंदेते हुए सोचा कि वह समस्या का समाधान कर सकता है। इसलिए, वह लोगों के पास गया और उन्हें यह समझाया कि समस्या का हल उन्हीं के अंदर है। वह ने यह भी कहा कि आपको किसी राजा की जरूरत नहीं है, क्योंकि आप सभी अपने आप में एक महान शक्ति हैं।

आम आदमी ने सभी को एकत्रित किया और मिलकर समस्या का समाधान निकाला। यह उनकी सामर्थ्य और संगठन की शक्ति को प्रकट कर दिया। लोगों ने आम आदमी को अपने असामान्य कार्यों के लिए सराहा और उसे एक महान नेता के रूप में मान्यता दी।

इस कहानी से हमें यह सिख मिलती है कि हमारी सत्ता और प्रभाव शासकीय पद या अधिकार से नहीं आती है, बल्कि हमारे सोच, निष्ठा, और सामर्थ्य से आती है। हम सभी एकत्रित होकर समस्याओं का समाधान कर सकते हैं और एक बेहतर और समृद्ध समाज का निर्माण कर सकते हैं।

See also  vishwas ka vilom shabd । विश्वास का विलोम शब्द [2023]

FAQ- “राजा” के विलोम क्या हो सकते हैं? “राजा” के विलोम शब्द हो सकते हैं: “प्रजा,” “जन,” “पीपल,” “सेवक,” और “नृपति”। “नृपति” और “राजा” में क्या अंतर है? “नृपति” एक शब्द है जिससे राजा की शक्तियों और प्राधिकृतता की दिशा में संकेत मिलता है, जबकि “राजा” आमतौर पर शासक को दर्शाने में प्रयुक्त होता है। “प्रजा” और “राजा” में क्या विशेषता हो सकती है? “प्रजा” शब्द सामाजिक और राजनीतिक संदर्भों में उपयोग होता है और यह जनसाधारण लोगों की संख्या को दर्शाता है, जबकि “राजा” आधिकारिक रूप से राजसत्ता के प्रतीक के रूप में प्रयुक्त होता है। “सेवक” और “राजा” में कैसा संबंध हो सकता है? “सेवक” शब्द उपाधिक और सेवाभावी प्रतिष्ठा की ओर संकेत करता है, जबकि “राजा” शब्द राजसत्ता, प्रताप और अधिकार की दिशा में संकेत करता है। “राजा” और सामाजिक महत्व क्या है? “राजा” शब्द ऐतिहासिक और सांस्कृतिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह राज्य, सत्ता, और संगठन की प्रतिष्ठा का प्रतीक होता है।

vishwas ka vilom shabd । विश्वास का विलोम शब्द
prashansa ka vilom shabd । प्रशंसा का विलोम शब्द [2023]
 काम करने की चार अच्छी आदतेजो आपकी ,थकान,चिंता दूर रखे।four good habits of doing this work and remove your fatigue, anxiety)

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *